Take a fresh look at your lifestyle.

PM Modi Will Do Mann Ki Baat For The 100th Time Today, Live Telecast Will Also Be Held At UN Headquarters – PM मोदी आज करेंगे 100वीं बार मन की बात, UN हेडक्वॉर्टर में भी होगा लाइव टेलीकास्ट

0



‘UN में ‘मन की बात’ का  प्रसारण ऐतिहासिक’

कुल 30 मिनट के इस कार्यक्रम की 100वीं कड़ी का प्रसारण 30 अप्रैल को भारतीय समयानुसार पूर्वाह्न 11 बजे होगा, जो न्यूयार्क में रविवार को देर रात डेढ़ बजे होगा. भारतीय मिशन ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में कार्यक्रम का सीधा प्रसारण ऐतिहासिक एवं अभूतपूर्व घटना होगी. भारत के स्थायी मिशन ने कहा, ‘‘मन की बात’ एक मासिक राष्ट्रीय परंपरा बन गया है, जो लाखों लोगों को भारत की विकास यात्रा में भाग लेने के लिए प्रेरित करता है.”

गुयाना, पनामा, कोलंबिया और डोमिनिक गणराज्य की आधिकारिक यात्रा पर गए विदेश मंत्री एस जयशंकर के भी समुदाय द्वारा आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने की उम्मीद है. ‘मन की बात’ कार्यक्रम तीन अक्टूबर 2014 को शुरू हुआ था और यह हर महीने के आखिरी रविवार को प्रसारित होता है. 

नौ हजार स्थानों पर ‘मन की बात’ सुनने की व्यवस्था

बीजेपी की झारखंड इकाई ने रविवार को प्रसारित होने वाले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ की 100वीं कड़ी को नौ हजार स्थानों पर सुनने की व्यवस्था की है. इसके प्रसारण से एक दिन पहले पार्टी ने राज्य में दीपोत्सव मनाया.भाजपा के प्रदेश कार्यालय में आयोजित दीपोत्सव कार्यक्रम में पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद दीपक प्रकाश और क्षेत्रीय संगठन महासचिव नागेंद्र त्रिपाठी सहित सैकड़ों कार्यकर्ता शामिल हुए.

पीएम मोदी हर महीने के आखिरी रविवार को अपने मासिक प्रसारण के दौरान कई मुद्दों पर बोलते हैं. यह कार्यक्रम 2014 में शुरू हुआ था, जिस साल वह सत्ता में आए थे और तब से जारी है.

हरियाणा में जींद जिले के छोटे से गांव बीबीपुर से ‘सेल्फी विद डॉटर’ अभियान शुरू करने वाले सुनील जागलान 30 अप्रैल को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मासिक रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ की 100वीं कड़ी के अवसर पर आयोजित विशेष कार्यक्रम में सम्मानित अतिथि बनेंगे. प्रसार भारती के एक शीर्ष अधिकारी ने यह जानकारी दी है.

23 करोड़ लोग सुनते हैं PM मोदी की ‘मन की बात’

प्रधानमंत्री के रेडियो शो मन की बात को देश भर में नियमित रूप से 23 करोड़ लोग सुनते हैं. जबकि देश में ऐसे लोगों की संख्या 100 करोड़ से अधिक है जिन्होंने कम से कम एक बार इस कार्यक्रम को सुना हो. जबकि 41 कार्यक्रम को सुना है, जबकि लगभग 41 करोड़ सामयिक श्रोता हैं. IIM के सर्वे में इसका खुलासा हुआ है. इस सर्वे में कहा गया है कि पीएम के संबोधन को हिंदी भाषा में सुनने वालों की संख्या सबसे ज्यादा है. 65 फीसदी श्रोता ऐसे हैं जो चाहते हैं कि पीएम ‘मन की बात’ में अपना संबोधन हिंदी में ही दें.

इन भाषाओं में प्रसारित होता है ‘मन की बात’

IIM रोहतक के छात्रों द्वारा किए गए सर्वे में चार क्षेत्रों – उत्तर, दक्षिण, पूर्व और पश्चिम और विभिन्न आयु समूहों में 10,003 उत्तरदाताओं से संपर्क किया गया, जिनमें से अधिकांश स्व-रोजगार और अनौपचारिक क्षेत्र से जुड़े थे.सर्वे में पाया गया कि 18 प्रतिशत उत्तरदाताओं ने कार्यक्रम को अंग्रेजी में, चार प्रतिशत ने उर्दू में, और दो प्रतिशत डोगरी और तमिल में सुनना पसंद किया. इसमें पाया गया कि अन्य भाषाओं जैसे मिज़ो, मैथिली, असमिया, कश्मीरी, तेलुगु, ओडिया, गुजराती और बंगाली के श्रोताओं की हिस्सेदारी कुल श्रोताओं की नौ प्रतिशत थी.

ये भी पढ़ें :
‘मन की बात’ में शिक्षा और ग्रासरूट इनोवेशन रहे सबसे प्रेरणादायक विषय : आईआईएमसी सर्वेक्षण

हरियाणा और जम्मू-कश्मीर में ‘मन की बात’ के 100वें एपिसोड का सार्वजनिक प्रसारण करेगी BJP

‘मन की बात’ के 100वें एपिसोड को ऐतिहासिक बनाने की तैयारी में BJP, बनाया ये खास ‘प्लान’


Leave A Reply

Your email address will not be published.