Take a fresh look at your lifestyle.

National Parent’s Day 2023: पैरेंट्स रहते हैं अकेले, होती है उनकी सेहत की चिंता, दूर रहकर ऐसे रखें उनका ख्याल

0


हाइलाइट्स

दूसरे शहर रहते हैं तो अपने पैरेंट्स से फोन पर जरूर बात करें.
अपने माता-पिता का हेल्थ इंश्योरेंस जरूर कराएं.

National Parent’s Day 2023: आज ‘राष्ट्रीय अभिभावक दिवस 2023’ यानी नेशनल पैरेंट्स डे सेलिब्रेट किया जा रहा है. ये दिन प्रत्येक वर्ष जुलाई महीने के चौथे संडे को पड़ता है. इस बार ये 23 जुलाई यानी आज है. ये पूरा दिन माता-पिता को समर्पित है. पैरेंट्स के लिए उनके बच्चे क्या मायने रखते हैं, ये उनका दिल ही जानता है. कई बार बच्चे भी अपने पैरेंट्स की भावनाओं को समझ नहीं पाते हैं. मां-बाप और बच्चे का रिश्ता बेहद अनमोल होता है. इसमें निस्वार्थ प्रेम होता है. कई बार अनजाने में बच्चे कुछ ऐसा बोल जाते हैं, कर जाते हैं, जिससे मां-बाप का दिल दुख जाता है. बावजूद इसके, वे कभी अपने बच्चों से किसी भी बात की शिकायत नहीं करते हैं. उनकी मरते दम तक देखभाल, चिंता, ख्याल करते हैं. ऐसे में बच्चों का भी फर्ज बनता है कि वे अपने पैरेंट्स का ख्याल जिंदगी भर रखें. उनकी सेहत का सोचें. उन्हें जब भी आपकी जरूरत महसूस हो, आप उनके पास हों. यदि आप अपने पैरेंट्स के साथ नहीं रहते हैं, किसी दूसरे शहर, विदेश में जॉब करते हैं तो भी आप उनकी देखभाल कर सकते हैं. उनकी सेहत को दुरुस्त बनाए रख सकते हैं.

पैरेंट्स की देखभाल करने के तरीके

फोन पर जरूर करें बातें
यदि आप अपने पैरेंट्स से दूर रहकर जॉब या पढ़ाई करते हैं या फैमिली के साथ दूसरे शहर में सेटल हैं तो जाहिर सी बात है, माता-पिता को अकेला महसूस होता होगा. आपकी कमी उन्हें खलती होगी. आपको लेकर वे चिंतित रहते होंगे. यही चिंता, फ्रिक आपको अपने पैरेंट्स के प्रति दूर रहकर दिखाना है. उन्हें अकेला महसूस ना हो, इसके लिए आप हर दिन 5 ही मिनट सही फोन जरूर करें. उनका हालचाल पूछें. हो सके तो वीडियो कॉल करें. इससे वो अकेले या आपसे दूर महसूस नहीं करेंगे. डेली बातचीत करने से उनके अंदर की उदासी, अकेलापन दूर होगा. स्ट्रेस, डर, चिंता खत्म होगी. ऐसे वे मेंटली और फिजकली खुश और हेल्दी रह सकेंगे.

उनका हेल्थ चेकअप जरूर कराएं
जब भी आप पैरेंट्स के पास छुट्टियों में जाएं तो उनका हेल्थ चेकअप कराएं. ऐसा आप हर 3 से 6 महीने पर जरूर करें. बढ़ती उम्र में कई तरह की शारीरिक समस्याएं अचानक घेर लेती हैं. ऐसे में प्रॉपर रूटीन चेकअप हो तो बीमारियों को समय रहते डिटेक्ट किया जा सकता है.

इसे भी पढ़ें: National Parent’s Day 2023: कब है नेशनल पैरेंट्स डे? क्यों मनाया जाता है यह दिन, क्या है इसका इतिहास और महत्व

रिश्तेदारों, पड़ोसियों से करें संपर्क
आप अपने पैरेंट्स से दूर किसी दूसरे शहर या देश में रहते हैं तो कोशिश करें अपने रिश्तेदारों से संपर्क बनाए रखने का. अगर आपके रिलेटिव उसी शहर में रहते हैं, जहां आपके माता-पिता तो उनसे आग्रह करें कि वे कभी-कभी घर मिलने चले जाएं. साथ ही आसपास रहने वाले पड़ोसियों के नंबर भी लेकर रखें ताकि कभी भी पैरेंट्स से कॉन्टैक्ट ना हो पाए तो एमरजेंसी में पड़ोसियों को फोन करके हालचाल, जानकारी प्राप्त कर सकें.

हेल्थ इंश्योरेंस कराएं
आप जॉब में हैं तो अपने पैरेंट्स का भी हेल्थ इंश्योरेंस जरूर कराएं. ऐसे में जब भी पैरेंट्स की तबीयत खराब होगी तो आसानी से संपूर्ण इलाज करा पाएंगे. इससे आपकी आर्थिक स्थिति भी खराब नहीं होगी.

घर का सामान करें ऑनलाइन ऑर्डर
फोन पर बात करके घर के खर्च, राशन, दवाइयों आदि की पूरी जानकारी लेते रहें. जब भी कोई सामान कम हो, उनकी जरूरी दवाई ना हो तो उसे आप ऑनलाइन ऑर्डर कर दें. कई बार कुछ बुजुर्ग माता-पिता को मोबाइल चलाना या ऑनलाइन चीजें ऑर्डर करने के बारे में पता नहीं होता है. ऐसे में आप उन्हें ये सब सिखा सकते हैं या फिर खुद ही ऑर्डर करते रहें. उन्हें हर महीने घर खर्च के लिए पैसे भी भेजते रहें.

हेल्दी लाइफस्टाइल फॉलो करने के लिए कहें
कई बार अकेले होने पर कुछ पैरेंट्स खाना-पीना सही से नहीं करते हैं. सुबह जल्दी नहीं खाते हैं. चिंता के कारण प्रॉपर नींद नहीं लेते हैं. आप जब भी उनके पास आएं, उन्हें हेल्दी डाइट लेने के लिए समझाएं. इसके फायदों के बारे में बताएं. शारीरिक रूप से एक्टिव रहने के लिए कहें ताकि आगे चलकर घुटनों, जोड़ों की समस्या ना हो. योग करने के लिए कहें. डाइट में हेल्दी और पौष्टिक चीजों को शामिल करके ही वे लंबी उम्र तक स्वस्थ और फिट बने रह सकते हैं.

(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

Tags: Lifestyle, Relationship


Leave A Reply

Your email address will not be published.