Take a fresh look at your lifestyle.

Man Sues Facebook For Locking His Account For No Reason Wins 50000 Dollars Meta Still Not Cooperating Decision Details

0


अमेरिका के जॉर्जिया से एक दिलचस्प खबर सामने आई है, जहां एक व्यक्ति ने Meta के स्वामित्व वाले दुनिया के सबसे पॉपुलर प्लेटफॉर्म Facebook पर मुकदमा दायर किया और उसे जीतते हुए 50 हजार डॉलर हासिल किए। मुकदमा इसलिए दायर किया गया था, क्योंकि फेसबुक द्वारा व्यक्ति के अकाउंट को लॉक कर दिया गय था। व्यक्ति का कहना था कि फेसबुक के पास को

Fox News की रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिका के जॉर्जिया में एक व्यक्ति ने फेसबुक पर मुकदमा कर दिया, क्योंकि प्लेटफॉर्म ने उसका अकाउंट लॉक कर दिया। व्यक्ति ने दावा किया कि फेसबुक ने उसका अकाउंट बिना किसी कारण के लॉक किया। इस केस में व्यक्ति ने 50,000 डॉलर (41,11,250 रुपये) जीते। 

कोलंबस के निवासी जेसन क्रॉफर्ड ने 2022 में इस केस को दायर किया था। उसका आरोप था कि कंपनी ने बिना किसी वैध कारण के उसका अकाउंट निलंबित किया और स्थिति को सही तरीके से हैंडल नहीं किया। रिपोर्ट के अनुसार, उसने अपने बयान में कहा, “मैं एक रविवार की सुबह उठा। मैंने अपने फेसबुक आइकन पर टैप किया और मुझे लॉक कर दिया गया। उन्होंने [फेसबुक ने] स्पष्ट कर दिया कि मुझ पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। प्लेटफॉर्म ने कारण बताया कि मैंने बाल यौन शोषण पर उनके स्टैंडर्ड का उल्लंघन किया है। और फिर आगे कई जवाब नहीं दिया।”

क्रॉफर्ड ने दावा किया कि ऐसा कोई उल्लंघन कभी नहीं हुआ। इतना ही नहीं, फेसबुक ने यह निर्दिष्ट नहीं किया कि उसके कौन से कार्यों या पोस्टों ने इस तरह के नियम का उल्लंघन किया होगा।

क्रॉफर्ड ने बताया कि इस मुद्दे को हल करने के लिए उसने कई बार फेसबुक की मूल कंपनी, मेटा प्लेटफॉर्म को कॉन्टैक्ट किया, लेकिन उनके सभी जवाब अनुत्तरित रहे। 

कोई प्रतिक्रिया नहीं मिलने से निराश होने के बाद पेशे से वकील क्रॉफर्ड ने अपनी अगस्त 2022 की शिकायत में कंपनी की ओर से लापरवाही का आरोप लगाते हुए फेसबुक पर मुकदमा करने का फैसला किया। मुकदमे के बावजूद फेसबुक की ओर से लगातार चुप्पी बनी रही। हालांकि, जब फेसबुक की कानूनी टीम मुकदमे का जवाब देने में विफल रही, तो एक जज ने Meta को 50,000 डॉलर का भुगतान करने का आदेश दिया।

हैरानी इस बात की है कि क्रॉफर्ड का अकाउंट तो फेसबुक ने रिस्टोर कर दिया, लेकिन कंपनी अभी भी स्पष्ट रूप से जज के साथ सहयोग नहीं कर रही है और क्रॉफर्ड को शून्य पैसा मिला है।


Leave A Reply

Your email address will not be published.