Take a fresh look at your lifestyle.

Mahashivratri 2024 | आज महाशिवरात्रि! काशी-उज्जैन समेत कई कई ज्योतिर्लिंगों में उमड़ी भीड़, महाकाल के पूजन के लिए भक्तों की लंबी कतार

0




shivratri

Loading

नई दिल्ली: आज यानी शुक्रवार 8 मार्च को देशभर में महाशिवरात्रि पर्व (Mahashivratrai) जोरशोर से मनाया जा रहा है। आज के दिन सभी शिव भक्त पूरी श्रद्धा से महादेव का पूजन और व्रत कर रहे हैं। आज इस खास दिन पर देश भर के शिव मंदिरों में सुबह से ही लोग दर्शन के लिए पहुंच रहे  हैं और भोलेनाथ की पूजा में तत्पर हैं।

पूरे देश में शिव भक्त कर रहे अराधना 

आज मध्यप्रदेश के जिले उज्जैन में भगवान महाकाल के पट रात 2:30 बजे खुले हैं। वहीं लोग गर्भगृह में दाखिल होकर महाकाल का अभिषेक कर रहे हैं। जानकारी दें कि, यहां गुरुवार देर रात 2।30 बजे से शनिवार रात 10।30 बजे तक मंदिर के पट खुले रहेंगे। यानी भक्त अब 44 घंटे बाबा महाकाल के दर्शन कर सकेंगे। ऐसा भी दावा है कि महाशिवरात्रि पर करीब 12 लाख श्रद्धालुओं के उज्जैन में पहुंचने की संभावना है। 

इधर शिव के नगर वाराणसी के विश्वनाथ मंदिर में दर्शन के लिए गुरुवार को ही 2 लाख श्रद्धालु पहुंच गए थे। यहां अब बाबा का दरबार लगातार कुल 36 घंटे से ज्यादा समय तक खुला रहेगा। इस दौरान करीब 10 लाख भक्तों के मंदिर आने का बड़ा अनुमान है। वहीं झारखंड के बाबा बैद्यनाथ धाम मंदिर में भी भोलेनाथ के वृहंग दर्शन के लिए गुरुवार 7 मार्च की शाम से ही श्रद्धालुओं की जबरदस्त भीड़ पहुंचने लगी है।

300 साल बाद दुर्लभ संयोग

जानकारी दें कि, महाशिवरात्रि पर इस बार ऐसे योग संयोग व ग्रहों की स्थिति बनी है जो 300 साल में एक या दो बार बनती है। वहीं महाशिवरात्रि के दिन श्रवण नक्षत्र उपरांत धनिष्ठा नक्षत्र, शिवयोग, गर करण तथा मकर/कुंभ राशि के चंद्रमा की साक्षी रहेगी। इसके साथ ही  कुंभ राशि में सूर्य, शनि, बुध का युति संबंध रहेगा। इस प्रकार के योग तीन शताब्दी में एक या दो बार बनते हैं, जब नक्षत्र, योग और ग्रहों की स्थिति केंद्र त्रिकोण से संबंध होती है।

महाशिवरात्रि में पूजा का समय

महाशिवरात्रि का पर्व आज यानी 8 मार्च को निशिता काल में शिवजी की पूजा के लिए मध्यरात्रि 12 बजकर 07 मिनट से 12 बजकर 55 मिनट तक का समय है। पूजा के लिए केवल 48 मिनट का ही शुभ मुहूर्त आज है।   




Leave A Reply

Your email address will not be published.