Take a fresh look at your lifestyle.

Kids Care Tips | परीक्षाएं अगर हो गई हो खत्म, तो बच्चों का समय बर्बाद न होने दें, कुछ ‘ऐसे’ आइडिया आ सकते हैं बड़े काम के

0




Loading

सीमा कुमारी

नवभारत लाइफस्टाइल डेस्क: जैसा कि आपको पता है, मार्च के खत्म होते ही लगभग सभी बच्चों के एग्जाम (Board Exam) खत्म होने लगते हैं और ये एक ऐसा समय होता है जब बच्चा सबसे ज्यादा फ्री रहता है। ऐसे में परीक्षा खत्म होने के बाद उन्हें रिलैक्स करना जरूरी होता है। परीक्षा के प्रेशर में बच्चे (Kids Care Tips) पढ़ाई में इतना व्यस्त हो जाते हैं कि वो लाइफ जीना ही भूल जाते है।

जब तक रिजल्ट नहीं आता तब तक आगे की पढ़ाई या क्लास नहीं होती और न ही अगले क्लास की चिंता रहती है। बच्चों के लिए ये समय एक अच्छा ब्रेक होता है जब वे अपनी दिलचस्पी के अनुसार अपना समय बिता सकते हैं। कोई घंटों टीवी देखने में बिता देता है तो कोई दिन भर खेलते ही रहता है।

यह भी पढ़ें

बच्चे के समय का करवाएं सदुपयोग

एक पैरेंट होने के नाते आपके ऊपर इस बात का बोझ जरूर बढ़ता है कि बच्चों के इस गोल्डन पीरियड का कैसे फायदा उठाया जा सकता है। ऐसा क्या करें जिससे आपके बच्चे खुशी-खुशी इस समय का सदुपयोग कर सकें। ऐसे में आइए जानें एक्सपर्ट्स क्या कहते है, इस बारे में –

1- एक्सपर्ट्स के अनुसार, कई बार ऐसा होता है कि बच्चों को ये पता ही नहीं होता है कि वे किस कला में बढ़िया कर सकते हैं। इसलिए छुट्टियों में उन्हें किसी नए स्किल को डेवलप करना सिखाएं। इसके लिए कोई स्पेशल क्लास ज्वाइन करना हो तो वो भी कराएं।

2- अगली क्लास के लिए बच्चे को पहले से थोड़ा तैयार भी किया जा सकता है। इसके लिए अगली क्लास के बेसिक सब्जेक्ट्स के कुछ टॉपिक्स यूट्यूब या ऑनलाइन सर्च कर के समझ सकते हैं, जिससे अगली क्लास उन्हें अचानक से बोझ न लगे।

3- एक्सपर्टर्स की मानें तो, हर बच्चे की कोई न कोई हॉबी जरूर होती है। किसी को पेंटिंग करना पसंद होता है, तो किसी को डांसिंग। बच्चे की दिलचस्पी के अनुसार, उन्हें अपनी हॉबी को एक्सप्लोर करने के लिए प्रोत्साहित करें।

4-बच्चे अपनी व्यस्त दिनचर्या में बहुत कम समय नेचर के साथ बिता पाते हैं। इस समय का पूरी तरह से फायदा उठाएं और बच्चे को जितना हो सके नेचर के साथ समय बिताने को कहें। रात में खुले आसमान के नीचे तारे दिखाएं, सुबह सूर्योदय दिखाएं, पंछियों की चहचहाहट सुनाएं। ये सब सुनने में बहुत ही मामूली सी बातें लग सकती हैं, लेकिन बच्चों के सम्पूर्ण विकास में नेचर के साथ बिताए इस समय का असर बहुत ही प्रभावी होगा।




Leave A Reply

Your email address will not be published.