Take a fresh look at your lifestyle.

Juice Jacking Cyber Attack | भूलकर भी नहीं करें पब्लिक प्लेस पर स्मार्टफोन की चार्जिंग, हो सकते है अटैक के शिकार, सरकार ने जारी किया अलर्ट

0




Juice Jacking Cyber Attack

पब्लिक प्लेस पर चार्जिंग करने से बचें (सोशल मीडिया)

Loading

नवभारत लाइफस्टाइल डेस्क: जैसा कि, सब डिजिटल होने से साइबर अटैक के कई सारे मामले आए दिन सुनने के लिए मिलते है जिसके लिए सुरक्षा का होना जरूरी है। चौंक जाइए आप, अगर सार्वजनिक जगहों पर आप भी इमरजेंसी में लगे चार्जिंग पोर्ट्स से मोबाइल और लेपटॉप चार्ज करते है तो आपको यह साइबर अटैक का शिकार बना सकता है। जी हां यूएसबी चार्जिंग स्टेशन सुरक्षा के लिहाज से सही नहीं होते है इसे लेकर ही इंडियन कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पॉन्स टीम यानी CERT-In ने यूजर्स को अलर्ट किया है। साथ ही इन मामलों में ‘जूस-जैकिंग’ साइबर अटैक (Juice Jacking Cyber Attack) को पेश किया है कि यह खतरनाक होता है।

जानिए क्या है ये जूस जैकिंग

यह एक तरीके का ऐसा साइबर अटैक है जो पब्लिक प्लेस पर लगे चार्जिंग पोर्ट्स से बढ़ता है। इसे हैकर्स ने कमाई का जरिया बना लिया है जो इसमें ऐसे सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर को इंस्टॉल कर देते है कि, इसके जरिए यूजर्स का गोपनीय डाटा जैसे बैंक डिटेल्स, पासवर्ड सारे हैकर्स के पास पहुंच जाते है। इसके जरिए हैकर्स आसानी से आपके बैंक खाते को खाली कर देते हैं। इतना ही नहीं इन चार्जिंग पॉट्स में लगे चार्जर में एक जूस जैकिंग नामक वायरस दिया गया होता है जो हैकर्स चार्जिंग डिवाइस को मैलवेयर (वायरस) से फैला देते है जो बेहद ही खतरनाक होता है।

जानिए कैसे करें जूस जैकिंग से बचाव

हैकर्स के इस अटैक से बचने के लिए यूजर्स को एहतियात बरतने जरूरी है। इसके लिए CERT-इन की ओर से चेतावनी जारी की गई थी। इसमें कहा कि, यूजर्स सतर्क हो जाइए, पब्लिक प्लेसेस पर लगे चार्जिंग पोर्ट्स का प्रयोग हैकर्स यूजर्स का डाटा चुराने के लिए करते है। इसके लिए यूजर्स को चाहिए कि, वे ऐसे किसी भी इनफेक्टेड चार्जिंग पोर्ट्स पर चार्जिंग करने से बचें इसके अलावा इन टिप्स को भी याद रख लें ताकि आपकी सुरक्षा हो सकें।

1- पब्लिक चार्जिंग स्टेशन या चार्जर का इस्तेमाल करने से पहले दो बार सोचें.
2- हमेशा अपना पावर बैंक या पावर केबल का ही इस्तेमाल करें.
3- अपने मोबाइल डिवाइस को चार्ज करने के लिए आम चार्जिंग सॉकेट का इस्तेमाल करें.
4- कोशिश करें की फोन बंद होने पर उसे चार्ज करें.
5-अपने फोन को लेटेस्ट सॉफ्टवेयर के साथ अपडेट रखें.
6- अपने फोन का ऑटो कनेक्शन मोड हमेशा बंद रखें.

यहां शिकायत कर सकते हैं दर्ज

अगर आप यूएसबी चार्जिंग स्कैम (USB Charging Scam) के शिकार बन गए हैं तो तुरंत 1930 पर कॉल करें. आप इसकी शिकायत लिखित में दर्ज कराएं. इसके अलावा धोखाधड़ी की जानकारी देने के लिए https://www.cybercrime.gov.in पर रिपोर्ट दर्ज कराएं.




Leave A Reply

Your email address will not be published.