Take a fresh look at your lifestyle.

ISI Mark | हाई क्वालिटी स्टैंडर्ड का सिंबल होता है ये मार्क, जानिए कैसे पहचानें मार्क असली है या फिर नकली

0




ISI Mark,. BIS APP

ISI Mark (सोशल मीडिया)

Loading

नवभारत लाइफस्टाइल डेस्क: वैसे तो हर चीजों की मिलावट का पता लगाना मुश्किल होता है प्रॉडक्ट्स असली है या फिर नहीं इसके लिए सरकार ने एक ऐसा मार्क जारी किया है जिसे ISI मार्क कहते है। इस मार्क के जरिए प्रॉडक्ट्स की शुद्धता मापी जाती है। इस मार्क दरअसल हाई क्वालिटी स्टैंडर्ड (High Quality Standerd) का सिंबल माना जाता है। असल में खरीदारी करते समय सबसे पहले इसे चेक करने के लिए कहा जाता है।

मौजूदा समय में हर जगह मिलावट होने से इस मार्क को भी फेक तरीके से प्रयोग में लाया जा रहा है। इसकी प्रमाणिकता की जांच होना जरूरी है। इसके लिए ‘ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टैंडर्ड्स’ के ‘BIS Care App’का इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है।

BIS करता है मूल्यांकन 

यहां पर मार्केट में प्रॉडक्ट को लेकर दुकानदार के कहे हुए झूठे वादे और प्रलोभन का पता लगाने के लिए ISI मार्क को भारत का राष्ट्रीय मानक निकाय (बीआईएस) द्वारा भारतीय मानकों को विकसित करने और मूल्यांकन करने का काम करता है। इस संस्था का काम मूल्यांकन से लेकर हॉलमार्किंग को लेकर होता है जो गुणवत्ता की क्षमता का आकलन करते है। आप यहां पर आपके उत्पाद पर  ISI मार्क सही है या नहीं इसकी पुष्टि करने के लिए BIS की वेबसाइट पर जा सकते है या फिर स्टेप्स फॉलो कर सकते है। 

1- सबसे पहले आप अपने प्रोडक्ट पर लगे आईएसआई मार्क को ध्यान से देखें। इस मार्क में एक मानक संख्या कोड के रूप में छिपी होती है। जो सर्टिफिकेशन के सर्टिफिकेट पर भी मौजूद होती है।

2- इसकी जांच के लिए गूगल पर जाकर भारतीय मानक ब्यूरो (BIS) की वेबसाइट पर जाएं। 

3- इस वेबसाइट पर आप  “सर्टिफिकेशन” टैब पर क्लिक करें और फिर “सर्टिफाइड प्रोडक्ट की लिस्ट” पर क्लिक करें।

4-यहां पर लिस्ट में से आप प्रोडक्ट का नाम, कैटेगरी और प्रोड्यूसर का नाम रजिस्टर करें। ये प्रोडक्ट पहले से पंजीकृत है तो इसकी पूरी जानकारी दिखाई देगी।

5-अगर आपको इस प्रोडक्ट की कोई जानकारी नहीं मिले तो आप BIS से संपर्क करके प्रोडक्ट की सर्टिफिकेट की पुष्टि कर सकते हैं। 

6- वेबसाइट के कस्टमर केयर हेल्पलाइन नंबर पर या फिर वेबसाइट के संपर्क के आधार पर अपनी समस्या बता सकते है। 

7- आप प्रोडक्ट के साथ  दिए गए सर्टिफिकेशन के सर्टिफिकेट को भी वेरीफाई कर सकते हैं। 

8-सर्टिफिकेट पर BIS का लोगो, सर्टिफिकेट नंबर, प्रोडक्ट का डिटेल और प्रोड्यूसर का नाम होना चाहिए।

यह भी पढ़ें

प्ले स्टोर से ऐसे डाउनलोड करें बीआईएस केयर ऐप 

यहां पर आप इस बीआईएस केयर ऐप के जरिए प्रमाणिकता का प्रयास लगाने की सोच रहे है तो इसे आसान स्टेप्स के साथ डाउनलोड किया जा सकता है जैसे, 

1- सबसे पहले इस ऐप को इंस्टॉल करने के लिए Google Play Store/Apple ऐप स्टोर पर जाएं। 

2- ऐप के खुलते ही आप इसमें अपना मोबाइल नंबर रजिस्टर करते हुए प्रोसेस करें। 

3-इसमें वेरिफाइड लाइसेंस के डिटेल का इस्तेमाल  करके  ISI  मार्क के साथ प्रोडक्ट की प्रामाणिकता की जांच करें। 

4-वेरिफाइड एचयूआईडी का इस्तेमाल करके एचयूआईडी नंबर  ISI के साथ हॉलमार्क वाले आइटम की प्रमाणिकता की जांच करें। 

5-शॉपिंग करते वक्त मार्केट से मिलने वाले सेल और ऑफर्स में हम ISI मार्क के सहारे असली प्रोडक्ट की जांच कर सकते हैं। 

6- अधिक जानकारी के लिए आप https://www.bis.gov.in/ वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।




Leave A Reply

Your email address will not be published.