Take a fresh look at your lifestyle.

Holi 2024 | देश में एक ऐसी भी जगह! जहां महिलाएं नहीं देखती होलिका दहन, जानिए क्या है इसकी वजह

0




holi 2024, Lifestyle News,

महिलाएं नहीं देखती जलती होली (डिजाइन फोटो)

Loading

नवभारत लाइफस्टाइल डेस्क: होली का त्योहार (Holi 2024) जहां पर इस साल 25 मार्च 2024 को मनाया जाने वाला है वहीं पर इस दिन को लेकर हर जगह तैयारियों का दौर जारी है इससे पहले ही होली दहन (Holika Dahan) का त्योहार मनाया जाने वाला है। इस दिन हर कोई होलिका माता का पूजन करते है और जीवन के लिए सुख-समृद्धि की कामना करते है। इसे लेकर कई जगहों पर अलग-अलग मान्यता है जिनके बारे में कम ही लोगों को जानकारी होगी।  

इस गांव की महिलाएं नहीं देखती दहन

होली के मौके पर हर कोई दहन के बाद अपनों को होली की शुभकामनाएं देते है लेकिन उत्तरप्रदेश के झांसी जिले में एक ऐसा गांव एरच भी है जहां पर महिलाएं खुली आंखों से होलिका दहन नहीं देख सकती। इसके पीछे की वजह बिल्कुल खास है इस दिन इस गांव में होलिका माता को बेटी के रूप में पूजा जाता है। इसे लेकर पौराणिक मान्यता भी है कि, इस एरच जो पहले एरिकच्छ था में होलिका का जन्म हुआ था। इस वजह से इस गांव की महिलाओं को दहन देखने की मनाही होती है। उनका मानना है कि वे अपनी बेटी को जलते हुए नहीं देख सकती हैं।

यह भी पढ़ें

ये भी है मान्यता 

इस गांव में महिलाओं के दहन नहीं देखने के अलावा एक और मान्यता प्रचलन में है यहां पर होलिका दहन के लिए उनकी होलिका की विशेष पूजा करके उनसे माफी मांगकर अपनी नाक रगड़ते हैं। एरच गांव के लोग मानते हैं कि एरच गांव नदी किनारे बसा हुआ है, फिर भी इस गांव में आज तक बाढ़ नहीं आई है। गांव के लोग सुख-समृद्धि के लिए होलिका माता का पूजन करना परंपरा मानते है। इसके लिए होलिका को श्रद्धाजंलि देने के लिए यहां पर होलिका कुंड का निर्माण किया गया है। 

जानिए क्या है होली की पौराणिक कथा

होलिका दहन को लेकर एक पौराणिक कथा सदियों से प्रचलन में है जिसमें हिरण्यकश्यप की बहन होलिका ने अपने भाई के कहने पर भक्त प्रह्लाद को मारने की कोशिश की थी। होलिका को आग में न जलने का वरदान मिला था, इसी कारण वो अपनी गोद में प्रह्लाद को लेकर बैठ गई थी लेकिन भगवान विष्णु की कृपा से प्रह्लाद बच गया और होलिका आग में जलकर खाक हो गई। इसके बाद से हर साल होलिका दहन किया जाता है।




Leave A Reply

Your email address will not be published.