Take a fresh look at your lifestyle.

Holi 2024 | क्या आपने खाया है होली की आग में भूना हुआ गेहूं, डायबिटीज के रोगियों के लिए होता है रामबाण, जानिए इसके और फायदे

0




holi 2024, Lifestyle News, Roasted Wheat

भूने हुए गेहूं की बालियां खाने के फायदे (डिजाइन फोटो)

Loading

नवभारत लाइफस्टाइल डेस्क: जैसा कि, जानते है होली का त्योहार (Holi 2024) इस साल 25 मार्च को देशभर में मनाया जाने वाला है। वहीं पर इस दिन को मनाने से एक दिन पहले होलिका दहन 24 मार्च को मनाते है। इस दिन के मौके पर कई सारी परंपराएं औऱ रस्में निभाई जाती है वहीं पर इन्हें पूरा करने से जीवन में सुख-समृद्धि भी बढ़ती है। आपने होली के मौके पर दहन की रात आग में गेहूं की बालियां भूनकर प्रसाद तो लिया होगा। इसके सेवन से परंपरा पूरी होने के साथ ही सेहत को भी इसका फायदा मिलता है। 

यह होती है परंपरा 

भारतीय संस्कृति में होलिका दहन के दौरान एक परंपरा चलती है जिस दौरान दहन की रात आग में गेहूं की बालियां भूनकर उसे प्रसाद के रूप में खाने की परंपरा होती है। गांवों में भूनकर आम दिनों में खाई जाने वाली बालियों से सेहत को कई बड़ी बीमारियों से लड़ने में फायदा मिलता है। इस परंपरा के अनुसार दहन में गेहूं की 7 बालियों की आहूति देने की बात कही गई है। इसे लेकर 7 बालियां ही क्यों डाली जाती है इसे लेकर मान्यता स्पष्ट नहीं है कई इसे  सप्ताह में 7 दिन और विवाह में 7 फेरे मानते है। 

यह भी पढ़ें

सेहत के मिलते है ये फायदे

होलिका दहन में भूनी हुई गेहूं की बालियां का सेवन प्रसाद के रूप में करने से कई फायदे मिलते है जो इस प्रकार है…

1- अगर आप भूने हुए गेहूं का सेवन करते है तो आपका पाचन तंत्र दुरूस्त रहता है वहीं पर किसी भी खाने को पचाने में आसानी होती है। इसके अलावा पेट में आ रही गड़बड़ी, एसिडिटी और अपच को दूर करने के लिए इस गेहूं का सेवन करते है। यह खाना बड़ा ही लाभकारी माना जाता है। 

2- मोटापे से पीड़ित लोगों को भूने हुए गेंहू को खाने की सलाह दी जाती है जिसमें भरपूर फाइबर होता है। इसमें फाइबर की अधिकता के कारण यह शरीर में मौजूद विषाक्त पदार्थों को आसानी से बाहर निकालता है और वसा का संचय कम करता है। ऐसे में अगर नियमित रूप से भुने हुए गेहूं का सेवन करना चाहिए।

3- गंभीर बीमारियों में से एक डायबिटीज में अगर रोगी इन बालियों का सेवन कर लेती है तो फायदेमंद होता है। इसे खाने से  शुगर का स्तर नियंत्रित रहता है और डायबिटीज से पीड़ित व्यक्ति की परेशानी कम होती है।

4-कैंसर रोगियों को इन भूनी हुई गेंहू की बालियों का सेवन करना चाहिए। कहा जाता है यह कोलन, आंत से जुड़े बड़े कैंसर के खतरे को कम करती है। इसका सेवन करने से आपका पाचन तंत्र सुचारू रूप से चलता है। कोलन कैंसर और पाचन से जुड़े गंभीर रोगों का जोखिम कम करने में भी यह सहायक साबित होता है।

5- दिल की सेहत के लिए भी आपको दहन में भूने हुए गेंहू की बालियों का सेवन करना चाहिए।  भुने हुए गेहूं में फाइबर के साथ ही एंटी ऑक्सीडेंट भी अच्छी मात्रा में पाया जाता है जो दिल की सेहत के लिए लाभकारी होता है। इसलिए अगर नियमित रूप से भुने गेहूं का सेवन करना चाहिए।

जानिए कैसे करें सेवन 

जानते हैं आप भूने हुए गेंहूं का सेवन हिमाचल और पहाड़ी क्षेत्रों में नाश्ते के रूप में किया जाता है। इसे तैयार करने के लिए आप लोहे की कड़ाही या तवे पर गेहूं के दाने हल्की अच्छी तरह से भुनें। आप चाहें तो उसमें सूखे मेवे भी डाल सकते हैं, इससे एक हेल्दी स्नैक्स बनकर तैयार हो जाएगा।




Leave A Reply

Your email address will not be published.