Take a fresh look at your lifestyle.

Health News | ज़्यादा समय तक Night Shift करने वाले ज़रूर जानें हेल्थ की संभावित समस्याएं, बचाव के जानें ज़रूरी टिप्स

0




Night Shift, Health News

नाइट शिफ्ट करने वालों के लिए टिप्स (सोशल मीडिया)

Loading

सीमा कुमारी 

नवभारत लाइफस्टाइल डेस्क: इन दिनों काम के बदलते ट्रेंड की वजह से हमारी लाइफस्टाइल भी काफी बदल गई है। डे शिफ्ट के अलावा अब नाइट शिफ्ट (Night Shift) भी काफी ट्रेंड में आ चुकी है। लोग बेहतर फ्यूचर (Better future) के लिए नाइट की भी शिफ्ट करते हैं।

कई लोगों को लगता है कि नाइट शिफ्ट (Night Shift) में काम कम होता है और ये काफी आसान है, पर ऐसा बिल्कुल नहीं होता है। इससे न सिर्फ आपकी नींद प्रभावित होती है बल्कि हेल्थ पर भी गहरा असर पड़ता है। कई तरह की हेल्थ प्रॉब्लम्स होने का खतरा रहता है। ऐसे में आइए जानें…

नाइट शिफ्ट में काम करने के साइड इफेक्ट

1-एक स्टडी की मानें तो, नाइट शिफ्ट में करने वाले व्यक्ति को हार्ट अटैक का खतरा 7% तक बढ़ जाता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि नींद की आदतें में बदलाव के चलते ब्लड प्रेशर और सर्कुलेशन बहुत प्रभावित होता है।

2- यूनाइटेड किंगडम में ब्रिस्टल विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने यह स्टडी की, जिसमें यह सामने आया है पूरी रात जागने और गलत समय में खाना खाने से हमारी भूख और भोजन की आदतें खराब हो जाती है, जिसके परिणामस्वरूप वजन बढ़ता है। यह हालिया अध्ययन कम्युनिकेशंस बायोलॉजी जर्नल में प्रकाशित हुआ है।

3- हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार, देर रात काम करने वाले लोगों का मानसिक स्वास्थ्य भी काफी हद तक प्रभावित होता है। साल 2007 में की गई एक स्टडी में ये बात सामने आई थी कि रात में काम करने वाले लोगों में सेरोटोनिन का स्तर काफी कम था। ये एक बॉडी में पाया जाने वाला केमिकल है, जो मूड को बेहतर बनाने में मददगार है।

4- कई लोग रात में जागने के लिए चाय और कॉफी पीना खूब पसंद करते है। क्योंकि, इनमें मौजूद कैफीन नामक तत्व बॉडी को एक्टिव रखने में मदद करता है। हालांकि शरीर में कैफीन की मात्रा बढ़ने के चलते गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल और मांसपेशियों में कंपन शुरू हो सकती है। इसलिए चाय और कॉफी का सेवन सीमित मात्रा में ही करना उचित रहता है।

5- एक्सपर्ट्स का मानना है कि, नींद पूरी ना होने के कारण थकान, चिड़चिड़ापन और तनाव आम बात होती है। ऐसे में हेल्दी रहने के लिए स्लीपिंग साइकल पूरा करना बेहद जरूरी होता है। एक्सपर्ट के मुताबिक रात में जागने से शरीर में सर्कैडियन रिदम पर असर पड़ता है। जिससे शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य भी प्रभावित होता है। इसलिए दिन में कम से कम 6-7 घंटे की नींद लेने की कोशिश करें।

6- शरीर को फिट रहने और हड्डियों को मजबूत रहने के लिए विटामिन D का होना बेहद जरूरी है। इसकी कमी की वजह से कैंसर, कमजोर हड्डियां, दिल की बीमारी आदि का खतरा रहता है। जो लोग रात को ऑफिस में काम करते हैं और दिन में सोते हैं, उन्हें सूर्य की किरणें नहीं मिलती है और इससे शरीर में विटामिन डी की कमी होती है।

यह भी पढ़ें

कैसे करें बचाव

1- नाइट शिफ्ट में काम के बीच जल्दी- जल्दी ब्रेक लें। दिन के समय भरपूर नींद लेनी चाहिए।

2- कमरे का प्रकाश बेहद कम रखें।

3- रोजाना एक्सरसाइज करें। शराब या कैफीन से परहेज करें।




Leave A Reply

Your email address will not be published.