Take a fresh look at your lifestyle.

Flat White Coffee on Doodle | आखिर क्या होती है फ्लैट व्हाइट कॉफी, गूगल आज अपने डूडल में कर रहा है सेलिब्रेट

0




Flat White Cofee, Google Doodle

फ्लेट व्हाइट का नजारा गूगल डूडल पर (डिजाइन फोटो))

Loading

नवभारत लाइफस्टाइल डेस्क: गूगल अपने डूडल (Google Doodle) पर किसी ना किसी मौके पर बदलाव के साथ नया करके सेलिब्रेट करता ही है आज यानि 11 मार्च के गूगल के इस डूडल का जश्न फ्लेट व्हाइट कॉफी (Flat White Cofee) को लेकर है। जिसे क्लिक करने पर आप इस कॉफी के इतिहास के बारे में जान पाते है। 

जानिए Flat white क्या है 

यह Flat white एक तरह से फेमस एस्प्रेसो-आधारित पेय है, इसे 11 मार्च 2011 को ऑक्सफोर्ड इंग्लिश डिक्शनरी में जोड़ा गया था। इसे डिक्शनरी में कहा गया, फ्लैट व्हाइट वह है जो, एस्प्रेसो के एक शॉट के ऊपर उबले हुए दूध का एक पसंदीदा कॉफी पेय है, इसे पहली बार ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में परोसा गया था। वहीं पर इसे लेकर माना जाता है कि,  यह पेय पहली बार 1980 के दशक के दौरान सिडनी और ऑकलैंड के मेनू में दिखाई दिया था।

Flat White Cofee, Google Doodle

                                                        फ्लेट व्हाइट का नजारा गूगल डूडल पर (सोश मीडिया)

कैसे होता है तैयार

इस फ्लैट व्हाइट कॉफी की बात की जाए तो, फ्लैट व्हाइट एस्प्रेसो शॉट से बना होता है जिसके ऊपर उबले हुए दूध और माइक्रो-फोम की एक पतली परत होती है और इसे पारंपरिक रूप से सिरेमिक कप में परोसा जाता है। यहां पर फ्लैट व्हाइट की लोकप्रियता ज्यादातर कॉफी प्रेमियों के बीच होती है, जो अपने पेय में कम झाग चाहते हैं क्योंकि फ़्लैट व्हाइट कैप्पुकिनो या लट्टे की तुलना में “फ़्लैट” होता है। पहले फ्लैट व्हाइट को पूरे दूध से बनाया जाता था, वहीं पर इसमें बदलाव देखे जा रहे है। 




Leave A Reply

Your email address will not be published.