Take a fresh look at your lifestyle.

Eye Cancer Prevention | अब आसान हुआ आंखों के कैंसर का इलाज ! आ गई ये नई सर्जरी, बस आधे घंटे में इलाज संभव

0




Eye Care, Eye Care Cancer, Lifestyle News

आंखों के कैंसर का इलाज (सोशल मीडिया)

Loading

नवभारत लाइफस्टाइल डेस्क: हर व्यक्ति से शरीर के सभी अंगों का स्वस्थ रहना जहां पर जरूरी होता है वहीं पर शरीर के अंगों में आंख (EYE CARE) सबसे नाजुक अंगों में से एक होता है। आंखों के कैंसर के कई मामले देखने के लिए मिलते है। ऐसे में चर्चा में मेलेनोमा कैंसर (melanoma cancer) के मामले देखने के लिए मिल रहे है जिसका निदान पहले संभव नहीं था वहां अब अध्ययन में नई सर्जरी का पता चला है जिसके जरिए 30 मिनट में इलाज संभव हो जाएगा। 

कैसे होता है आंखों का कैंसर

आंखों की सेहत में कैंसर का खतरा होता है जहां पर मेलानोमा कैंसर आंखों को प्रभावित करने वाला कैंसर है। इस कैंसर के कई प्रकार देखने के लिए मिलते है इसमें आईबॉल में पाए जाने वाले कैंसर को इंट्राऑकुलर कैंसर कहते है वहीं पर इस कैंसर के होने पर व्यक्ति को कई तरह के लक्षण देखने के लिए मिलते है। इसके लिए नई गामा मशीन के जरिए इलाज संभव हो जाएगा।

जानिए क्या है गामा नाइफ रेडियोथैरेपी 

इस थेरेपी से आंखों के किसी भी कैंसर के मरीजों का इलाज संभव हो जाएगा। यहां पर गामा नाईफ (gamma knife Therapy) एक मशीन होती है जिसे एमआरआई मशीन के नाम से जाना जाता है। इस मशीन के जरिए अब आंखों में चीर करके इलाज नहीं किया जाता है। इस थेरेपी के जरिए आंखों में बिना चीरा लगाएं बस एक टांके के जरिए कैंसर का इलाज किया जा सकता है। इस थेरेपी के जरिए आंखों की रोशनी को बचाया जा सकता है। इस तकनीक के जरिए पेशेंट की आंखों से 200 किरणों में से ट्यूमर को ढूंढ़कर मारती है. इस तकनीक से मरीजों को काफी आराम मिलेगा। इस थेरेपी के जरिए आधे घंटे में इलाज संभव हो जाता है।

यह भी पढ़ें

जानिए क्या होगी इलाज की फीस

देश में गामा नाइफ थेरेपी से इलाज संभव होने के साथ ही इस इलाज की फीस 75 हजार रूपए बताई गई है।  इस फीस के बाद पूरी लाइफ लॉन्ग फॉलोअप फ्री में होगा. यहीं नहीं आयुष्मान भारत और बीपीएल के मरीजों का यहां मुफ्त में इलाज हो रहा है। डॉक्टरों ने दावा करते हुए कहा है कि यह एक स्पेशल रेडियोथैरेपी है, जिसमें सर्जरी की जरूरत नहीं होती है. यह दावा किया जा रहा है कि देश में केवल एम्स में ही गामा नाइफ के जरिए यह इलाज होगा।




Leave A Reply

Your email address will not be published.