Take a fresh look at your lifestyle.

कहीं आपके बीच भी तो नहीं ‘रूममेट सिंड्रोम’? पति-पत्नी के रिश्‍ते को कैसे कर रहा है प्रभावित, जानें इससे बचने के 4 तरीके

0


हाइलाइट्स

ऐसे रिश्‍ते बोझिल हो जाते हैं और इंसान मानसिक रूप से अकेलापन महसूस करने लगता है.
हो सकता है कि आपके बीच समय का अभाव हो, फिर भी एक दूसरे के लिए समय चुराना सीखें.

Preventing roommate syndrome in marriage: जब दो इंसान शादी के बंधन में बंधते हैं और जीवनभर साथ निभाने का वादा करते हैं तो उनके बीच एक दूसरे की हर जरूरतों को पूरा करने का चैलेंज भी होता है. यह जरूरत उनकी भावनात्‍मक जुड़ाव को भी मजबूत बनाती है और कपल्‍स के बीच की हर तरह की दूरी को कम कर उन्‍हें एक बना देती है. लेकिन जब समय के साथ ऐसे हालात भी आते हैं जब जीवन के भागदौड़ में इंसान थकान महसूस करने लगता है और इसका असर रिश्‍ते पर पड़ने लगता है.  ऐसे में वे एक छत के नीचे लवबर्ड की बजाय एक रूममेट की तरह जीवन जीने लगते हैं. ऐसे रिश्‍ते बोझिल हो जाते हैं और इंसान मानसिक रूप से अकेला और खुद का रिजेक्‍टेड महसूस करने लगता है. हालांकि दुनिया में से सबसे ज्‍यादा एक दूसरे के साथ कंफर्टेबल महसूस करते हैं.

रूममेट सिंड्रॉम के नुकसान
रिलेशनशिप एक्‍सपर्ट गौटमैन वेबसाइट के मुताबिक, शादी में रूममेट सिंड्रॉम आने की वजह से परिवार में बात बात पर झगड़े, बहस, बच्‍चों की परवरिश में परेशानी, बच्‍चों के साथ खराब रिश्‍ते, अकेलापन, मेंटल स्‍ट्रेस, डिस्‍कनेक्‍शन महसूस होने जैसी समस्‍या शुरू हो सकती है.

रूममेट सिंड्रॉम को इस तरह रखें अपने रिश्‍ते से दूर

एक दूसरे की अच्‍छाई को रखें याद
जब भी आपके बीच रूममेट सिड्रॉम के लक्षण दिखें तो अपने पार्टनर की बुराई पर ध्‍यान देने की बजाय यह याद करने की कोशिश करें उसमें क्‍या क्‍या अच्‍छाई है. यह याद रखें कि हो सकता है कि जिम्‍मेदारियों के बीच आपके बीच दूरियां आई हैं लेकिन आपके बीच सब कुछ अच्‍छा रहेगा.

स्‍पेशल कराएं महसूस
कई बार पार्टनर यह महसूस करने लगता है कि आपके मन में उनके लिए स्‍पेशल फीलिंग नहीं है, ऐसे में यह प्रयास करें कि छोटी छोटी चीजें बीच में करते रहें. मसलन, कभी घर आए तो पार्टनर का फेवरेट पिज्‍जा ले आए या फेवरेट ड्रेस खरीद लिया. हमेशा गिफ्त मुस्‍कुराते हुए दें.

इसे भी पढ़ें :बचकानी हरकतों से टूट जाते हैं मजबूत से मजबूत रिश्‍ते, जानें रिलेशनशिप में किस तरह दिखाएं इमोशनल मैच्योरिटी

जीवन में बदलाव जरूरी
अगर आपको लग रहा है कि लाइफ निराशाजनक और बोरिंग बीत रही है तो बदलाव लाने का प्रयास करें. इसके लिए आप रुटीन में चेंज ला सकते हैं, वॉक आदि को रुटीन में शामिल कर सकते हैं, साथ मूवी का प्‍लान बना सकते हैं या कुछ मजेदार चीज कर सकते हैं.

क्‍वालिटी टाइम जरूरी
हो सकता है कि आपके बीच समय का अभाव है ऐसे में समय चुराना जरूरी है. मसलन, कभी पार्टनर को ऑफिस से आना हो तो गाड़ी लेकर रिसीव करने चले जाएं, कभी खाना साथ बनाएं और कुछ अच्‍छी बातें साज्ञथ साझा करें. इस तरह आप इंडायरेक्‍ट अपने पार्टनर को बता पाएंगे कि आप उनकी कद्र करते हैं और वे आपके लिए आज भी स्‍पेशल हैं.

इसे भी पढ़ें :मजबूत रिश्‍ते की पहचान है Respect, आपका पार्टनर कितना करता है इज्‍जत, 5 संकेतों से लगाएं पता

Tags: Lifestyle, Marriage, Relationship


Leave A Reply

Your email address will not be published.